May 8, 2010

मेरी माँ

रंग बिरंगी तितली जैसी नटखट सी है मेरी माँ,
नाचते गाते साथ साथ हम मस्ती करते मेरी माँ |
संग मेरे तुम खेला करती,जानबूझ कर हारा करती |
हरदम मुझको डांटा करती,डांट कर खुद भी रोया करती |
रोते रोते जब मै सो जाती,तुम आ कर मुझसे सॉरी कहती |
पल में रूठती पल में मानती,तंग मुझे तू करती है |
जिद्दी मुझको कहती है पर जिद्द अपने मानवती है |
बहुत सताती रूठ रूठ कर फिर प्यार भी तुही बरसाती है |
रंग बिरंगी तितली जैसी नटखट सी तू मेरी माँ है |
लुका-छुप्पी के खेल में माँ जब तुम छुप जाती हो,
एक अनजाना सा डर ले मन में तुमको ढूंडटी रहती हूँ | 
कभी ना फिर छुपुंगी कह कर जब तुम गले लगाती हो,
आँखे भीचे खुद को मै सबसे सुरक्षित पाती हूँ|

LOVE YOU MAA

12 comments:

प्रकाश गोविन्द said...

Yeh bandhan to pyaar ka bandhan hai
Janmon ka sangam hai
-
-
BAHUT SUNDAR
-
ISHU KO KHOOB SAARA PYAR AUR AASHISH

रावेंद्रकुमार रवि said...

कविता पढ़कर और फ़ोटो देखकर
दिल ख़ुश हो गया!

--
अपनी माँ का मुखड़ा!
--
संपादक : सरस पायस

Ram Krishna Gautam said...

Happy Mother's Day... Love To Ishita... Salute To You!...




"RAM"

माधव said...

माँ तुझे सलाम

abhi said...

बहुत अच्छी कविता....इशिता को प्यार.. :)

Gourav Agrawal said...

sahi kaha hai kisi ne

बेसन की सोंधी रोटी पर खट्टी चटनी जैसी माँ


kisi ne ye bhee kahaa hai ...

When U are a mother, U r never really alone in Ur thoughts. A mother always has to think twice, once for herself and once for her child.

kisi ne ye bhee kahaa hai ....

Being a full-time mother is one of the highest salaried jobs... since the payment is pure love.



Happy Mother`s Day!



main to ye mantaa hoon

agar koi shabd hai jiska varnan karna, arth batana vidvano ke bhee bas ki baat nahi hai,to vo hai

....."माँ".........


मदर्स डे के शुभ अवसर पर ...... टाइम मशीन से यात्रा करने के लिए.... इस लिंक पर जाएँ :
http://my2010ideas.blogspot.com/2010/05/blog-post.html

रावेंद्रकुमार रवि said...

मनभावन होने के कारण
चर्चा मंच पर

इंद्रधनुष के सात रंग मुस्काए!

शीर्षक के अंतर्गत
इस पोस्ट की चर्चा की गई है!

Smita Srivastava said...

Such lovely poems along with wonderful pics !!!

Thanks for visiting my blog n putting in such lovely comments .

Smita
@Little Food Junction

Saba Akbar said...

बहुत सुन्दर कविता..

रंजन said...

bahut sundar..

Madhur Maurya *Madhukar* said...

behtareen likha hai apne,,,,,

SPARSH said...

बहुत ही खुबसूरत रचना . आपको बहुत बहुत बधाई