Aug 3, 2010

तुझे अक्सा बीच घुमा दूँ :D


बीच मेरी बहुत ही पसंदीदा जगह है| तेज़ हवा में रेत पर दौड़ना और रेत के टीले बनाना बहुत अच्छा लगता है, और मज़े की बात अगर दौड़ते-दौड़ते गिर भी गये तो चोट भी नहीं लगती :) | इसीलिए मै पापा से हमेशा बीच जाने को कहती हूँ | आज अक्सा बीच और मार्वे बीच की कुछ तश्विरे...

 
दोस्तों के साथ अक्सा बीच पर पिकनिक :) 

 

14 comments:

Pandit Kishore Ji said...

beta aisi hi tasveere khichati raho khoob maje karo

abhi said...

अरे वाह इशिता..अक्सा बीच घूम आई...पता है मुझे भी बीच घूमने का बहुत मन है, कभी मुंबई आया तो तुम्हारे साथ ही घूमूँगा अक्सा बीच :)

बहुत प्यारी लग रही हो :)

rashmi ravija said...

इशिता और उसके फ्रेंड्स तो बड़े प्यारे लग रहें हैं....खूब मस्ती हो गयी...बीच पे...

प्रवीण पाण्डेय said...

बड़े ही सुन्दर चित्र।

रावेंद्रकुमार रवि said...

अरे, वाह!
मज़ा आ गया!
इतने बढ़िया-बढ़िया फ़ोटो देखकर!

Amit destiny! said...

aapka blog kholte hi mere chehre pe jo sabse pehle aayi woh hai badi si muskaan............cho chweet........:-)
God Bless You.........

amit destiny! said...

aur in rang birangi toffiyan dekh kar toh muh mein paani haa gay........:-)
bachpan ki yaad aa gayi.......

रावेंद्रकुमार रवि said...

मची गुदगुदी है गालों में,
हवा घुस गई है बालों में!
आँखों में है रंगत आई,
ओंठो पर मुस्कान सजाई!

अजय कुमार झा said...

अरे वाह भई ...खूब घुमी घुमी हो रही है .और मस्ती भी । किए जाओ किए जाओ .......यूं ही मस्ती में जिए जाओ .....स्नेहाशीष

रंजन said...

सारी फोटो अच्छी आई है..

मस्त

प्यार

माधव said...

वाह बहुत सुन्दर है ये अक्सा बीच . किसी गाने में इसके बारे में सुनाता , आज देख भी लिया . बहुत सुन्दर तस्वीरे है.

Babli said...

इशिता तुम बहुत सुन्दर और प्यारी लग रही हो! खूब मज़े कर रही हो अपने दोस्तों के साथ फोटो देखकर ही पता चल रहा है!

Akshita (Pakhi) said...

खूबसूरत बीच और फोटो...मुझे भी बीच बहुत अच्छे लगते हैं. यहाँ अंडमान में तो खूब बीच है...

वन्दना said...

अरे वाह बहुत ही प्यारी फ़ोटो हैं और वो भी दोस्तों के साथ मज़ा आ गया।