Sep 15, 2010

गणपति बाप्पा मोरया


जैसा की हमसब जानते है गणेशा जी का शुभागमन हो गया है, चारो ओर बस गणपति बप्पा मोरया की ही गूंज है | इस समय मुंबई की रौनक देखते बनती है | मोदक की मीठी मीठी खुशबु ने यहाँ की हवा को भी मीठा सा बना दिया है | मुंबई के लगभग हर गली सड़क चौराहे पर बप्पा की स्थापना की गयी है | लोग अपने घरो में भी गणपति स्थापना करते है और सभी को गणपति दर्शन के लिए बुलाते है | इस समय हम बच्चो के तो खूब मज़े होते है, खूब घुमने को मिलता है हमें | यूँ तो गणपति- उत्सव ११ दिनों तक चलता है लेकिन देड दिन तीन दिन पांच दिन और सात दिन के गणपति भी स्थापित किये जाते है और फिर खूब धूम-धाम से गणपति विसर्जन होता है | हमारे यहाँ सात दिन के गणपति आये है | इस दौरान रोज़ सुबह शाम आरती-पूजन के साथ-साथ कई सांस्कृतिक कार्यक्रम, जागरण आदि होते है | इस बार फैंसी- ड्रेस प्रतियोगिता में मै टाइगर बनी और ईनाम भी जीता :) , लेकिन मुझसे कोई डरा ही नहीं :( 













पर्युषण और गणपति ने तो पूरा वातावरण धार्मिक बना दिया है और प्रभु भक्ति में मगन इस शेर का नृत्य तो देखिये

video

8 comments:

abhi said...

इतनी स्वीट सी टाइगर से कौन डरेगा भला? ये तो बताओ....

:)

Akshita (Pakhi) said...

अले वाह, मस्ती ही मस्ती....Looking cute.


_____________________________
'पाखी की दुनिया' - बच्चों के ब्लॉगस की चर्चा 'हिंदुस्तान' अख़बार में भी.

माधव said...

बहुत सुन्दर . हमारे देश की यही तो खासियत है .

प्रवीण पाण्डेय said...

मैं तो बस डर ही गया था।

रानीविशाल said...

इतने प्यारे बेबी टाइगर को तो दोस्त बनाने का दिल कर रहा है
भाई हम तो बिल्तुल नहीं डले :)
लंग दयो ले ...ही ही ही
नन्ही ब्लॉगर
अनुष्का

रावेंद्रकुमार रवि said...

बहुत बढ़िया!

vichaar said...

blog ki duniya ki nanhi badshah, apko aftab ka salaam...keep it up. nice writing.

चैतन्य शर्मा said...

hello baby tiger.... badi sweet tiger dikh rahi ho... ishita